विश्व का सबसे बड़ा बांध कौन सा है, क्या इससे पृथ्वी की गति धीमी हो रही है? जानें यहाँ!

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

नमस्कार दोस्तों, जैसे की आप सभी को पता है विश्वभर में कई सारे बांध बनाए गए हैं। इनमें से कुछ बांध अपनी लंबाई और ऊंचाई के लिए प्रसिद्ध हैं। यह सवाल अक्सर हमारे मन में आता है कि विश्व का सबसे बड़ा बांध कौन सा है, क्योंकि इन बांधों के अनगिनत फायदे होते हैं। वर्षा ऋतु में गिरने वाला बारिश का पानी इन बांधों में संचित किया जाता है, जिससे आसपास के गांवों को बाढ़ से बचाया जा सकता है।

बांध क्षेत्र में रहने वाले लोग गर्मी के मौसम में इस पानी का उपयोग अपने दैनिक कामकाज के लिए करते हैं। हमारे घर में आने वाली बिजली भी बांध के पानी से ही बनाई जाती है। अब सवाल यह है कि इतने छोटे-बड़े बांधों में से विश्व का सबसे बड़ा बांध कौन सा है? इस लेख में हमने इसके बारे में पूरी जानकारी दी है, तो कृपया इस लेख को अंत तक पढ़ें।

जरूर पढ़े : सबसे बड़ा ग्रह कौन सा है । Sabse Bada Grah Kaun Sa Hai 

ये है विश्व का सबसे बड़ा बांध

विश्व का सबसे बड़ा बांध

विश्व का सबसे बड़ा बांध चीन के हुबेई प्रांत में स्थित ‘थ्री गोर्जेस डैम’ (Three Gorges Dam) है। यह बांध यांग्त्ज़ी नदी पर बनाया गया है। इस बांध की लंबाई लगभग 2.3 किलोमीटर (2300 मीटर), चौड़ाई 115 मीटर, और ऊंचाई 185 मीटर है। थ्री गोर्जेस डैम को विश्व के पनबिजली बांधों में सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। यांग्त्ज़ी नदी, जो दुनिया की सबसे लंबी नदियों में से एक है, लगभग 6,300 किलोमीटर तक फैली हुई है और यह विश्व में तीसरे स्थान पर आती है। इस बांध की जल संग्रहण क्षमता लगभग 40 अरब क्यूबिक मीटर है, जो लगभग 32 मिलियन एकड़ फीट के बराबर है।

ऐसा कहा जाता है कि इस बांध के निर्माण का कार्य साल 1994 में शुरू किया गया था और यह बांध पूरा होते-होते साल 2012 आ गया। मतलब 18 साल की लंबी प्रतीक्षा के बाद यह बांध बनकर तैयार हुआ। इस बांध का निर्माण करने में लगभग ढाई लाख करोड़ रुपये का खर्च आया था।

रिपोर्ट के अनुसार थ्री गोर्जेस डैम के निर्माण के लिए लगभग चार लाख 463 हजार टन स्टील का उपयोग किया गया था। अनुमान के मुताबिक, यह बांध 22,400 मेगावाट ऊर्जा उत्पन्न करने की क्षमता रखता है। इसके पहले, विद्युत उत्पादन क्षमता के मामले में भारत का होवर बांध सबसे ऊपर था। मतलब, बिजली उत्पादन के क्षेत्र में इसकी कोई बराबरी नहीं है।

जरूर पढ़े : सबसे बड़ा देश कौन सा है । Duniya Ka Sabse Bada Desh Kaun Sa Hai

विश्व के सबसे बड़े बांध से उत्पन्न हुए खतरे

इस विशाल बांध की वजह से चीन और आसपास के क्षेत्रों में पानी की कोई कमी नहीं है। इस पानी का उपयोग बड़े पैमाने पर बिजली बनाने और उद्योग-धंधों में हो रहा है। लेकिन इस बांध के जितने फायदे हैं, उससे कई ज्यादा नुकसान भी हैं।

इस बांध के निर्माण से इसके आसपास के क्षेत्रों में रहने वाले लोगों में भूकंप का खतरा मंडराता रहता है। इस बांध की वजह से बहुत सा क्षेत्र पानी के नीचे आ गया है, जिससे जंगल, खेती की जमीन आदि पर पानी का कब्जा हो गया है।

इसकी वजह से आसपास के गांवों में बाढ़ आने की संभावना बढ़ गई है। 2010 में आए एक भयानक बाढ़ के कारण लगभग 392 लोगों ने अपनी जान गंवा दी थी। डैम क्षेत्र में रहने वाले लगभग 14 लाख लोगों को वहां से स्थलांतरित किया गया, जिसमें दो शहर, 100 से ज्यादा कस्बे और 1600 गांव शामिल थे।

चीन में अनेक वनस्पतियों और जीवों की कई सारी प्रजातियाँ पाई जाती थीं, लेकिन इस बांध के निर्माण के लिए बहुत सारे पेड़ों की कटाई की गई। जंगल क्षेत्र भी पानी से व्याप्त होने के कारण अनेक पौधों, मछलियों और जानवरों की कई सारी प्रजातियाँ लुप्त हो गई हैं।

जरूर पढ़े : विश्व का सबसे पुराना खेल कौन सा है?

विश्व के सबसे बड़े बांध से पृथ्वी के गति में परिवर्तन

कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस बांध में इतना पानी समाहित है जिसकी वजह से पृथ्वी की घूमने की गति सुस्त हो गई है। आप सभी को पता है कि पृथ्वी अपने ध्रुवों पर घूमते समय 24 घंटे का अवधि लेती है।

2005 मे नासा के वैगनानिकोंने दिए रिपोर्ट के अनुसार, ऐसे बड़े बांधों द्वारा संग्रहीत पानी के कारण पृथ्वी के दिन की अवधि 0.06 माइक्रोसेकंड से बढ़ जाएगी। और पृथ्वी बीच में थोड़ी अधिक गोल और ध्रुवों पर चपटी हो जाएगी।

सारांश 

इस लेख में हमने विश्व का सबसे बड़ा बांध कौन सा है इसके बारे में जानकारी देने का प्रयास किया है। यदि जानकारी अच्छी लगी हो तो कमेंट करना ना भूलें। यदि इस लेख में कोई त्रुटि हो तो आप हमें कमेंट के माध्यम से बता सकते हैं, हम इस लेख में सुधार लाने का प्रयास करेंगे। लेख अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें। इस तरह के अन्य लेखों को देखना चाहते हो तो हमसे व्हाट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हो।

FAQ’s

  • विश्व का सबसे बड़ा बांध कौन सा है?

    दुनिया का सबसे बड़ा बांध “थ्री गोर्ज डैम” है, जिसे चीन में यांग्ज़ी नदी पर बनाया गया है। इसकी ऊचाई 185 मीटर, लंबाई 2.3 किलोमीटर है और यह विश्व के पनबिजली बांधों में सर्वश्रेष्ठ माना जाता है।

  • थ्री गोरजेस डैम के तीन नकारात्मक क्या हैं?

    थ्री गोर्जेस डैम के नकारात्मक प्रभावों में पर्यावरणीय दुष्प्रभाव, सामाजिक उत्थान में कठिनाई, और राजनीतिक विवाद शामिल हैं।

  • थ्री गोरजेस डैम की जलाशय क्षमता कितनी है?

    थ्री गोर्जेस डैम की जलाशय क्षमता लगभग 40 बिलियन मीट्रिक टन (यानी लगभग 40 अरब क्यूबिक मीटर) है।

  • विश्व का नंबर वन बांध कौन सा है?

    विश्व का नंबर वन बांध थ्री गोर्जेस डैम (Three Gorges Dam) है, जो चीन में यांग्ज़ी नदी पर स्थित है।

Share Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *