उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा जिला कौन सा है?

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा जिला कौन सा है? यह सवाल आपके मन में जरूर कभी न कभी आया होगा क्योंकि उत्तर प्रदेश भारत का सबसे अधिक आबादी वाला राज्य है। जिसे हम संक्षिप्त में यूपी भी बोलते हैं। इस राज्य को ऐतिहासिक और सांस्कृतिक विरासत प्राप्त हुई है। अयोध्या, मथुरा, काशी जैसे हिन्दुओं के आराध्य स्थल इसी राज्य की धरती पर स्थित हैं। यहाँ की पुरातन संस्कृति को देखने और इतिहास का अनुभव करने हेतु हर साल लाखों पर्यटक उत्तर प्रदेश में आते हैं। यह राज्य पुरातन मंदिरों, किलों और अन्य ऐतिहासिक स्थलों के लिए जगविख्यात है।

इस लेख में हमने उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा जिला कौन सा है, इस प्रश्न का उत्तर देने की कोशिश की है। तो आप इस लेख को पूरा जरूर पढ़ें, ताकि आपको अपने प्रश्न का उत्तर मिल सके।

जरूर पढ़े : दुनिया का सबसे छोटा देश, जहाँ रहते हैं सिर्फ 27 लोग!

उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा जिला

उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा जिला

उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा जिला लखीमपुर खीरी है। इस जिले का कुल क्षेत्रफल 7,680 वर्ग किलोमीटर (2,970 वर्ग मील) है। 2011 की जनगणना के अनुसार, इस जिले की कुल आबादी 4,021,243 थी। लखीमपुर खीरी जिला उत्तर प्रदेश के उत्तरी भाग में, नेपाल की सीमा के पास स्थित है, जो इसे भूगोलिक दृष्टि से महत्वपूर्ण बनाता है।

यह लखनऊ मंडल का एक अंग है और लखनऊ से लगभग 130 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। लखीमपुर शहर इसकी प्रशासनिक राजधानी है। इस जिले का साक्षरता दर लगभग 60.56 प्रतिशत है। यहाँ कुल 7 तहसीलें, 15 ब्लॉक, और 1165 ग्राम पंचायतें हैं।

आप नीचे दिए गए तालिका का उपयोग करके इस जिले के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

लखीमपुर खीरी जिला

जिला नामलखीमपुर खीरी
क्षेत्रफल (वर्ग किलोमीटर)7680
क्षेत्रफल (वर्ग मील)2970
आबादी (2011)4021243
भूगोलिक स्थितिनेपाल की सीमा के पास
मंडल नामलखनऊ
लखनऊ से दूरी (किलोमीटर)130
प्रशासनिक राजधानीलखीमपुर
साक्षरता दर (%)60.56
तहसीलें7
ब्लॉक15
ग्राम पंचायतें1165

जरूर पढ़े : भारत का सबसे बड़ा जिला, जिसके बारे में शायद ही आप जानते होंगे!

इतिहास

प्राचीन काल में यह जगह लक्ष्मीपुर के नाम से जानी जाती थी। खर के वृक्षों से घिरे होने के कारण इस स्थान को खीरी नाम प्राप्त हुआ, ऐसा कहा जाता है। खीरी, लखीमपुर से कुछ ही दूरी पर स्थित है और यह एक कस्बा है।

ऐसा भी कहा जाता है कि खीरी का नाम साईंंद खुर्द नामक व्यक्ति के नाम पर पड़ा, जिनकी मृत्यु 1563 में हुई थी। लखीमपुर से कुछ दूरी पर एक कब्र है और कहा जाता है कि इस कब्र से ही यह नाम लिया गया।

जरूर पढ़े : भारत में सबसे बड़ा दिन कब होता है? जाने क्यों इस दिन आपकी परछाई भी छोड़ देती है आपका साथ!

पर्यटन स्थळ 

यहाँ पर अनेक प्राचीन मंदिर और ऐतिहासिक स्थल हैं। इनमें हिंदू धर्म के कुछ प्रमुख मंदिर शामिल हैं, जैसे कि शिव मंदिर, लिलौटी नाथ मंदिर, मेंढक मंदिर, मैगलगंज, देवाकाली शिव मंदिर, और टेडेनाथ मंदिर। इन मंदिरों में श्रावण मास में मेले लगते हैं और यह मेलों का आनंद लेने वाले लोग दूर-दूर से यहाँ आते हैं।

इसके अलावा, यहाँ देखने के लिए दूधवा राष्ट्रीय उद्यान, सुरत भवन महल भी हैं। सीखों का पवित्र स्थान कौड़ियाला घाट साहिब गुरुद्वारा भी इसी जिले में स्थित है।

जरूर पढ़े : भारत में सबसे पहले सूर्योदय कहां होता है? जानिए कौनसी है वह अनोखी जगह!

धर्म संस्कृती 

लखीमपुर खीरी में हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई, जैन, बौद्ध और अन्य समुदाय के लोग रहते हैं। यहाँ की मुख्य भाषा हिंदी है। इसके अलावा, यहाँ के लोग अवधी भाषा में भी बातचीत करते हैं, जो कि उनकी स्थानीय भाषा है।

बरसों से यहाँ पर होने वाली ऐतिहासिक रामलीला यहाँ की संस्कृति की असली विरासत है, और यह विरासत यहाँ के लोगों ने संभालकर रखी है। कहा जाता है कि यह परंपरा 150 से अधिक साल पुरानी है। इसके साथ-साथ, यहाँ पर होने वाला दशहरा मेला, जो नवरात्रि के समय शुरू होता है और दिवाली तक चलता है, भी बहुत प्रसिद्ध है। इस मेले को देखने के लिए दूर-दूर से लोग यहाँ आते हैं।

इसके अलावा, यहाँ पर ईद, कौड़ियाला घाट साहिब गुरुद्वारा के पास लगने वाला मेला और अन्य धार्मिक त्योहार बड़े उत्साह से मनाए जाते हैं।

जरूर पढ़े : सबसे बड़ा देश कौन सा है? (Sabse Bada Desh Kaun Sa Hai): आपकी सोच से अलग है जवाब!

कला और संगीत

कला और संगीत के क्षेत्र में भारतीय संगीत, नृत्य, लोकगीत, और कला का स्थान अलग है। यहाँ के लोग भारतीय शास्त्रीय संगीत को बहुत पसंद करते हैं। इसमें लोक संगीत, जैसे की खयाल, थुमरी, तपा, और बादरी, यह संगीत प्रकार शामिल है। कला क्षेत्र में भी लखीमपुर खीरी का स्थान विशेष है। यहाँ के कलाकारों ने अपनी खास शैली में नृत्य, चित्रकला, और हस्तशिल्प का योगदान दिया है।

व्यवसाय और उद्योग 

यहाँ के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती है। यहाँ के लोग गेहूँ, चना, अरहर, सरसों, मटर, मसूर, केला और गन्ने की खेती करते हैं। इसके अलावा, जिले में अन्य व्यवसाय भी हैं, जैसे कुटीर उद्योग, केले से चिप्स तैयार करना, बैग, चटाई, अन्य कलाकृतियाँ, और दैनिक जीवन में उपयोग होने वाली सभी वस्तुओं का निर्माण भी यहाँ किया जाता है।

जरूर पढ़े : भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन (Bharat Ka Sabse Bada Railway Station) कौन सा है? जानिए यहाँ!

सबसे अधिक जिलों वाला राज्य

उत्तर प्रदेश यहाँ का राज्य भारत में सबसे अधिक जिलों वाला राज्य माना जाता है। वर्तमान में उत्तर प्रदेश में कुल 75 जिले हैं जो कि 18 विभागों में वितरित किए गए हैं। इसके साथ ही, यह भारत में सबसे अधिक जनसंख्या वाला राज्य भी है। 2011 में की गई जनगणना के आधार पर इस राज्य की जनसंख्या 19 करोड़ से भी अधिक थी। वर्तमान में इस राज्य की अनुमानित जनसंख्या लगभग 24.14 करोड़ है।

सारांश

इस लेख में हमने उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा जिला, लखीमपुर खीरी, के बारे में जानकारी दी है। यह लेख आपको कैसा लगा, यह आप हमें कॉमेंट के माध्यम से जरूर बताएं। अगर इस लेख में कोई त्रुटि है तो आप हमें मेल कर सकते हैं। हम इसमें सुधार लाने का प्रयास करेंगे। अगर लेख अच्छा लगा हो तो शेयर करना न भूलें। यदि आपको इस तरह के लेख पसंद आते हैं तो आप हमसे व्हाट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं। हम आपको नई-नई जानकारी देने का प्रयास करेंगे। धन्यवाद।

FAQ’s

  • उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा जिला कौन सा है?

    उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा जिला लखीमपुर खीरी है। इस जिले का कुल क्षेत्रफल 7,680 वर्ग किलोमीटर (2,970 वर्ग मील) है।

  • लखीमपुर जिले की आबादी कितनी है?

    लखीमपुर खीरी जिले की 2011 की जनगणना के अनुसार कुल आबादी 4,021,243 थी।

  • लखीमपुर में कौन सी भाषा बोली जाती है?

    लखीमपुर खीरी में मुख्य रूप से हिंदी भाषा बोली जाती है, जो कि राज्य की राजभाषा भी है। इसके अलावा, लोग अवधी भाषा में भी बातचीत करते हैं, जो कि स्थानीय भाषा है।

Share Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *