क्या आप जानते हैं, भारत में कितने राज्य हैं? (Bharat Me Kitne Rajya Hai) यहाँ जानें!

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

भारत एक बहुभाषी देश है. यहां के अलग-अलग राज्यों में कई जाति और पंथ के लोग रहते हैं, इतनी सारी विविधता के बाद भी यहा के लोग मिलजुल कर रहते है, भारत ने पूरे विश्व में यही विशिष्टता को बरकरार रखा है.

प्रशासनिक दृष्टि से अखंड भारत की व्यवस्था को चलाने के लिए इसे अलग-अलग राज्यों में बांटा गया है. स्वतंत्रता-पूर्व युग में भारत में बोहोत सारे प्रांत हुवा करते थे. आजादी के बाद ये प्रांत समय के साथ अलग-अलग राज्यों में तब्दील किए गए, इनमें से कई राज्यों को पूर्ण राज्य का दर्जा मिला हुवा है और कहियो को केंद्र शासित प्रदेश स्थापित किया गया हैं.

क्या आपको पता है भारत में कुल कितने राज्य हैं नहीं तो इस आर्टिकल को पूरा पढे हम आपको बताएंगे कि भारत में कितने राज्य हैं (Bharat Me Kitne Rajya Hai) उनके क्षेत्र, भौगोलिक और आर्थिक स्थिति, राजनीति, प्रसिद्ध पर्यटन स्थल, कला और संस्कृति, और उस राज्य की विशिष्टता के बारेमे भी जानेंगे.

Table of Contents

भारत में कितने राज्य हैं? (Bharat Me Kitne Rajya Hai)

भारत में कुल 28 राज्य और 8 केंद्र शासित प्रदेश हैं. और यह देश 32,87,263 वर्ग किमी क्षेत्रफल में फैला हुआ है. संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष (UNFPA) की एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला देश है. भारत के राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशो के बारे में हम इस लेख में विस्तृत जानकारी देखेंगे.

भारतीय राज्य: उनकी राजधानिया और स्थापना की तारीखें

राज्यराजधानीस्थापना
आंध्र प्रदेशअमरावती1 नवंबर 1956
अरुणाचल प्रदेशईटानगर20 फरवरी 1987
असमदिसपुर15 अगस्त 1947
बिहारपटना22 मार्च 1912
छत्तीसगढरायपुर1 नवंबर 2000
गोवापणजी30 मई 1987
गुजरातगांधीनगर1 मई 1960
हरयाणाचंडीगढ़1 नवंबर 1966
हिमाचल प्रदेशशिमला15 अप्रैल, 1948
झारखंडरांची15 नवंबर 2000
कर्नाटकबेंगलुरु1 नवंबर 1956
केरलतिरुवनंतपुरम1 नवंबर 1956
मध्य प्रदेशभोपाल1 नवंबर 1956
महाराष्ट्रमुंबई1 मई 1960
मणिपुरइंफाल21 जनवरी 1972
मेघालयशिलांग1 अप्रैल, 1970
मिजोरमआइजोल21 जनवरी, 1972
नगालैंडकोहिमा1 दिसंबर 1963
ओडिशाभुवनेश्वर1 अप्रैल, 1936
पंजाबचंडीगढ़1 नवंबर 1966
राजस्थानजयपुर30 मार्च 1949
सिक्किमगंगटोक16 मई 1975
तमिलनाडुचेन्नई26 जनवरी 1950
तेलंगानाहैदराबाद2 जून 2014
त्रिपुराअगरतला21 जनवरी 1972
उत्तराखंडदेहरादून9 नवंबर 2000
उत्तर प्रदेशलखनऊ24 जनवरी, 1950
पश्चिम बंगालकोलकाता1947

1) आंध्र प्रदेश

इस राज्य की स्थापना 1 नवंबर 1956 को हुई थी और अमरावती इस राज्य की राजधानी है. आंध्र प्रदेश भाषा के आधार पर स्थापित भारत का पहला राज्य है.

क्षेत्रफल की दृष्टि से यह राज्य भारत में 8वें स्थान पर आता है इस राज्य का क्षेत्रफल 1,60,205 वर्ग किमी मे फैल हुआ है. 2011 की जनगणना के अनुसार इस राज्य की जनसंख्या 49,386,799 थी और इस राज्य मे तेलुगु और हिंदी यह मुख्य भाषाये है और इसके के आलावा उर्दू भाषा भी यह बोली जाती है.

चारमीनार, तिरूपति बालाजी, श्रीशैलम मल्लिकार्जुन, एथिपोथला फॉल्स इस राज्य के पर्यटक आकर्षण हैं.

2) अरुणाचल प्रदेश

अरुणाचल प्रदेश को भारत में सूर्योदय का पहला स्थान कहा जाता है. 1972 से पूर्व इस क्षेत्र को नॉर्थ ईस्ट फ्रंटियर एजेंसी के नाम से जाना जाता था, बाद में इस क्षेत्र को केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा दिया गया और इस क्षेत्र का नाम अरुणाचल प्रदेश रखा गया. 20 फरवरी 1987 में, इस केंद्र शासित प्रदेश को राज्य मे तब्दील किया गया और ईटानगर को इस राज्य की राजधानी बनाई गई.

इस राज्य का क्षेत्रफल 83,743 वर्ग किमी है और 2011 की जनगणना के अनुसार, इस राज्य की जनसंख्या 1,383,727 है. यह क्षेत्र एक अविकसित और पिछड़े क्षेत्र के रूप में जाना जाता है और इस राज्य में 50 अलग-अलग भाषाये बोली जाती हैं.

अरुणाचल प्रदेश में पर्यटन के लिए अनेकों खूबसूरत जगह हैं. पर्यटक खास यहां के पहाड़, घुमावदार रास्ते, साफ झील, घने कोहरे का इलाका, प्रसिद्ध बौद्ध मठ देखने आते हैं.

3) असम

असम राज्य भारत के उत्तर-पूर्व में स्थित है और इस राज्य की स्थापना 15 अगस्त 1947 को हुई और इस राज्य का निर्माण अहोम राज घराने से हुवा था इसके दाखिले हमे इतिहास मे देखने मिलते है. दिसपुर शहर इस राज्य की राजधानी है.

और इस राज्य का क्षेत्रफल 78,523 वर्ग किमी. है और 2011 की जनगणना के अनुसार इस राज्य की जनसंख्या 3,11,69,272 अंकलित थी. असमिया, बोडो और सिलहटी असम की आधिकारिक और बोली भाषाएं हैं. साथ ही, यहा हिंदी भाषा भी बोली जाती है.

असम की प्राकृतिक सुंदरता पर्यटकों को आकर्षित करती है और ब्रह्मपुत्र नदी के मध्य में स्थित उमानंद द्वीप असम का विशेष आकर्षण माना जाता है.

4) बिहार

बिहार राज्य भारत के उत्तर में स्थित है और इस राज्य की स्थापना 22 मार्च 1912 को हुई थी. इसी दिन के उपलक्ष्य में यहां 22 मार्च को बिहार दिवस मनाया जाता है. पटना यह वर्तमान मे बिहार की राजधानी का शहर है.

इस राज्य का क्षेत्रफल 94,163 वर्ग किमी है और 2011 की जनगणना के अनुसार बिहार राज्य की जनसंख्या 2,77,04,236 थी इसे युवाओं का राज्य भी कहा जाता है क्योंकि यहां की 58% आबादी युवा है.

हालांकि हिंदी और उर्दू जादातर बोली जानेवाली भाषाये है, पर भोजपुरी, मैथिली, मगही, और अंगिकाभोजपुरी भाषा भी अधिकांश स्थानीय लोगों द्वारा यहा बोली जाती है. बिहार में धार्मिक स्थल, विश्वविद्यालय पर्यटन के प्रमुख केंद्र हैं.

5) छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ राज्य भारत के मध्य भाग में स्थित है और इस राज्य की स्थापना 1 नवंबर 2000 को हुई थी. रायपुर इस राज्य की राजधानी का शहर है. इस राज्य का इतिहास कितना प्राचीन है यह आपको यहा के गुफा चित्रों और स्थापत्य अवशेषों से पता चलता है. 36 दुर्ग (किल्ले) की भूमि के कारण इस क्षेत्र को छत्तीसगढ़ नाम मिला.

यह राज्य 1,35,194.5 वर्ग किमी में फैला हुआ है और 2020 में छत्तीसगढ़ राज्य की जनसंख्या 29,4,36,233 अंकित की गई थी.

हिंदी और छत्तीसगढ़ी इस राज्य की मुख्य भाषये है. प्राकृतिक पर्यटन स्थल, ऐतिहासिक संरचनाएँ-मंदिर, गुफाएँ, उद्यान यहा के पर्यटन की दृष्टि से प्रमुख स्थल हैं.

6) गोवा

इस राज्य पर कई वर्षों तक पुर्तगालियों का शासन रहा था. 19 दिसंबर, 1961 को यह राज्य भारत को सौंप दिया गया और 30 मई, 1987 को गोवा राज्य एक स्वतंत्र राज्य बन गया. पणजी गोवा राज्य की राजधानी है और वास्को डी गामा को मुख्य शहर माना जाता है.

गोवा राज्य को भारत के सबसे छोटे राज्य के रूप में जाना जाता है क्योंकि इस राज्य का क्षेत्रफल सिर्फ 3702 वर्ग किमी में फैला हुआ है. कोंकणी, हिंदी, अंग्रेजी, मराठी यहां रहने वाले स्थानीय लोगों की मुख्य बोलि भाषाये हैं. भारत की 2011 की जनगणना के अनुसार राज्य की जनसंख्या 14,57,723 थी.

गोवा एक ऐसा राज्य है जो पर्यटन की दृष्टि से पूरी दुनिया में लोकप्रिय है क्योंकि यह राज्य उसके विशाल समुद्र तटों के वजह से प्रसिद्ध है. यहां के समुद्र तट, किले और झरने गोवा का मुख्य आकर्षण हैं और इस कारण दुनिया भर से लाखों पर्यटक यहां पर्यटन का आनंद लेने आते हैं. यहां की पूरी अर्थव्यवस्था पर्यटन पर आधारित है.

7) गुजरात

गुजरात राज्य भारत के पश्चिमी भाग में स्थित है और देश में एक समृद्ध राज्य के तौर पे अपनी अलग पहचान बनाई है. कहा जाता है कि इस राज्य का नाम संभवतः गुर्जरों की बड़ी आबादी के कारण पड़ा होगा. इस राज्य का निर्माण 1 मई, 1960 को हुआ था और गांधीनगर इस राज्य की राजधानी का शहर है.

यह राज्य 1,95,984 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला हुआ है और 2011 की भारतीय जनगणना के अनुसार इस राज्य की जनसंख्या 6,03,83,628 थी. मराठी और हिंदी भाषी लोगों के साथ-साथ गुजराती यहां के लोगों की मुख्य बोली भाषा है.

इसके समुद्र तट, प्राकृतिक सुंदरता, अभयारण्य, प्राचीन मंदिर, पहाड़ी रिसॉर्ट्स जैसी आकर्षक जगहे दुनिया भर के पर्यटकों को आकर्षित करती हैं.

8) हरियाणा

भारत के उत्तरी भाग में हरियाणा राज्य स्थित है. इस राज्य को पंजाब के एक हिस्से को अलग करके बनाया गया है. इस राज्य की स्थापना 1 नवंबर, 1966 को हुई थी और चंडीगढ़ हरियाणा और पंजाब दोनों राज्यों की राजधानी है. हरियाणा राज्य का इतिहास महाभारत से मेल खाता है क्योंकि कौरवों और पांडवों के बीच युद्ध का स्थान कुरूक्षेत्र इसी भूमि स्तिथ है. इसके अलावा मराठों का इतिहास बदलने वाली युद्ध भूमि पानीपत भी इसी राज्य का हिस्सा है.

यह राज्य कुल 44,212 किमी वर्ग क्षेत्रफल में फैला हुआ है और 2011 की भारतीय जनगणना के अनुसार, इस राज्य की कुल जनसंख्या 2,53,53,081 थी. हिंदी और पंजाबी ये दो भाषाएँ यहाँ की मुख्य भाषाये हैं.

यहां पक्षी अभयारण्य, ऐतिहासिक शहर, पार्क, सुल्तानपुर राष्ट्रीय उद्यान, बादशाहपुर किला, बेगम समारू महल, सूरजकुंड, काबुली बाग, पानीपत संग्रहालय, फारूक किला, सीआरपीएफ शूटिंग रेंज इस जैसी जगहे राज्य में पर्यटन स्थल के रूप मे देखनेको मिलती हैं.

9) हिमाचल प्रदेश

हिमालय पर्वत श्रृंखला का हिस्सा होने के कारण है इस राज्य का नाम हिमाचल प्रदेश रखा गया था. यह राज्य 15 अप्रैल, 1948 को स्थापित किया गया था. शिमला इस राज्य की राजधानी है और यह इस राज्य का मुख्य शहर भी है. इस राज्य का इतिहास मानव अस्तित्व जितना ही पुराना है और इसके इतिहास के कई प्रमाण विभिन्न प्राचीन क्षेत्रों में खुदाई के बाद पाए गए हैं.

यह राज्य 55,673 वर्ग किमी क्षेत्र में फैला है और 2011 की जनगणना के अनुसार, इस राज्य की जनसंख्या 68,64,602 थी. इस राज्य मे हिंदी, पंजाबी, कांगड़ी, पहाड़ी और मंडियाली जैसी अलग-अलग भाषाएँ बोली जाती हैं.

भारत के पर्यटन क्षेत्र में सबसे अधिक आर्थिक आय प्रदान करने वाला राज्य हिमाचल प्रदेश है. शिमला, कुल्लू मनाली जैसे खूबसूरत शहर, शानदार पहाडिया, नदियाँ जैसे कई सारे पर्यटन स्थल दुनिया भर के पर्यटकों को आकर्षित करते हैं.

10) झारखण्ड

झारखंड राज्य भारत का 28वां राज्य है और 15 नवंबर 2000 को दक्षिण बिहार के हिस्से को अलग करके झारखण्ड एक नया राज्य बनाया गया था. झार याने जंगल और खंड याने भूमि का टुकड़ा ये दो शब्द मिला के इस राज्य का नाम रखा गया है. रांची शहर झारखंड राज्य की राजधानी है और जमशेदपुर शहर सबसे बड़ा शहर माना जाता है.

13वीं शताब्दी में उड़ीसा के राजा जयसिंहदेव ने राज्य की स्थापना की और कई वर्षों तक शासन किया. झारखंड मुक्ति मोर्चा दल ने झारखंड को आजाद कराने के लिए कई वर्षों तक विरोध प्रदर्शन किया अंततः उन्हें सफलता मिली और 1995 में झारखंड को पूर्ण राज्य का दर्जा दिया गया.

झारखंड राज्य 79,714 वर्ग किमी क्षेत्र में फैला हुआ है और 2011 की जनगणना के अनुसार, झारखंड राज्य की जनसंख्या 3,29,66,238 थी. हिंदी इस राज्य की मुख्य बोली भाषा है. यहां के धार्मिक स्थल और ऐतिहासिक वास्तुए यहां के पर्यटन का विशेष आकर्षण हैं.

11) कर्नाटक

कर्नाटक राज्य भारत के दक्षिणी भाग में स्तिथ है. इस राज्य का नाम पहले मैसूर था, इस राज्य को 1 नवंबर, 1956 को स्थापित किया गया और 1973 में इसका नाम बदलकर कर्नाटक कर दिया गया. इस राज्य की राजधानी बेंगलुरु है. कर्नाटक राज्य का इतिहास बहुत प्राचीन है और इसके प्रमाण भी हुमे देखने मिल जाते हैं. यहा साक्षरता का स्तर उच्च होने के कारण इसे भारत में स्नातक राज्य के रूप में मान्यता दी गई है.

क्षेत्रफल की दृष्टि से यह भारत का 8वां सबसे बड़ा राज्य है इसका क्षेत्रफल 1,91,791 किमी वर्ग विस्तृत रूप से फैला हुआ है. 2011 की भारतीय जनगणना के अनुसार, इस राज्य की जनसंख्या 6,10,95,297 थी और जनसंख्या के हिसाब से यह राज्य भारत में 9वें स्थान पर है. कन्नड़ इस राज्य की मुख्य भाषा है और यहां मराठी भाषी लोगों की आबादी अधिक होने के कारण यहां मराठी भाषा भी बोली जाती है.

यहाके पूर्वी प्राचीन ऐतिहासिक स्थान, सुंदर जंगल, समुद्र तट यहां पर्यटकों को आकर्षित करते हैं.

12) केरल

केरल भारत के दक्षिण में स्तिथ एक राज्य है. इस राज्य की स्थापना 1 नवंबर 1956 की गई थी और तिरुवनंतपुरम इस राज्य की राजधानी है. केरल का इतिहास पाषाण युग से प्रारंभ हुवा होगा यह हुमे वहां पाए गए कई साक्ष्यों से पता चल सकता है.

केरल का क्षेत्रफल 38,863 वर्ग. किमी तक फैला हुआ है और 2011 की जनगणना के अनुसार इस राज्य की जनसंख्या 33,406,061 थी. मलयालम भाषा यहां प्रमुख भाषा के तौर पर बोली जाती है.

इस राज्य की प्राकृतिक संपदा इस राज्य की विशिष्टता है और कई पर्यटक इसका अनुभव लेने और यहां की खाद्य संस्कृति का स्वाद चखने के लिए दुनिया भर से यहां आते हैं.

13) मध्य प्रदेश

इस राज्य को भारत का दिल भी कहा जाता है क्योंकि यह भारत के केंद्र में स्तिथ है. इस राज्य की स्थापना 1 नवंबर 1956 को की गई थी. पहले यह क्षेत्र अवंती महाजनपद के नाम से जाना जाता था और इसकी स्थापना के बाद इस क्षेत्र का नाम बदलकर मध्य प्रदेश कर दिया गया. भोपाल को इस राज्य के राजधानी के तौर पर अंकित किया गया है और इंदौर शहर इस राज्य का सबसे बड़ा शहर माना जाता है. शोधकर्ताओं को इस राज्य का इतिहास प्राचीन होने के कई सारे प्रमाण मिले हैं.

यह राज्य 3,08,144 वर्ग. किमी क्षेत्रफल मे फैल हुवा राज्य है और 2011 की जनगणना के अनुसार इस राज्य की जनसंख्या 7,25,97,565 थी. जनसंख्या के तौर पर यह राज्य भारत का छठा सबसे अधिक आबादी वाला राज्य है. हिंदी भाषा इस राज्य की मुख्य बोली जानेवाली भाषा है.

कान्हा अभयारण्य , ग्वालियर किला, ओरछा, पंचमढ़ी, मांडू जैसे ऐतिहासिक स्मारक पर्यटकों को आकर्षित करते हैं.

14) महाराष्ट्र

1 मई 1960 को महाराष्ट्र राज्य की स्थापना की गई थी. मुंबई शहर महाराष्ट्र राज्य की वर्तमान राजधानी है और इस राज्य का एक लंबा इतिहास रहा है.

महाराष्ट्र राज्य का क्षेत्रफल 3,07,713 वर्ग किमी मे फैला हुव है और क्षेत्रफल की दृष्टि से यह राज्य भारत का तीसरा सबसे बड़ा राज्य है. 2011 में हुई भारतीय जनगणना के अनुसार इस राज्य की जनसंख्या 11,23,72,972 थी और जनसंख्या की दृष्टि से महाराष्ट्र राज्य भारत में दूसरे स्थान पर है. मराठी भाषा यहा की मुख्य भाषा है और इसके अलावा भी बोहोत सारी भाषाये यह बोली जाती है.

पूरे भारत में महाराष्ट्र राज्य को “संतों की भूमि” कहा जाता है. यहां के ऐतिहासिक किले, समुद्र और देवी-देवताओं के मंदिर पर्यटको को आकर्षित करते हैं.

15) मणिपुर

इस राज्य का इतिहास एक गौरवशाली इतिहास रहा है. इस राज्य का इतिहास ईसा पूर्व 33 से शुरू होता है और इस भूमि पर कई राजाओं ने शासन किया है. 1891 से मणिपुर पर ब्रिटिश सरकार का शासन था और भारत की आजादी के बाद 15 अक्टूबर 1949 को मणिपुर का भारत में विलय हो गया. इंफाल मणिपुर राज्य की राजधानी है.

यह राज्य 22,356 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला हुआ है और 2011 में हुई जनगणना के अनुसार, इस राज्य की जनसंख्या 2,855,794 थी. मणिपुरी राज्य की मुख्य भाषा मणिपुरी है.

मणिपुर राज्य को प्राकृतिक सौंदर्य का अनमोल वरदान प्राप्त है और इसे भारत के स्विट्जरलैंड के नाम से भी जाना जाता है. आप इस क्षेत्र में कई दर्शनीय स्थलों का आनंद ले सकते हैं. यहां की खाद्य संस्कृति और पहनावा पर्यटकों का मन मोह लेते हैं. मणिपुरी नृत्य यहां की लोक कला का एक विशेष आविष्कार है.

16) मेघालय

मेघालय राज्य की प्राकृतिक सुंदरता अद्भुत है. इसे १ अप्रैल १९७० को स्थापित किया गया था और असम राज्य के इस क्षेत्र को 21 जनवरी 1972 को मेघालय के रूप में एक स्वतंत्र राज्य घोषित किया गया था और शिलांग शहर मेघालय राज्य की राजधानी है.

यह राज्य 22,429 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला हुआ है और 2011 की जनगणना के अनुसार इस देश की जनसंख्या 3,211,000 थी. मेघालय राज्य की मुख्य भाषा अंग्रेजी है और यहां खासी, गारो, पनार, बियाट, हाजोंग, बांग्ला और हिंदी भाषी लोग भी रहते हैं.

इस राज्य में कई पर्यटन स्थल हैं जो पर्यटकों को आकर्षित करते हैं. यहां के खूबसूरत हिल स्टेशनों, दर्शनीय स्थलों और खूबसूरत पहाड़ों के कारण इस राज्य को पूर्व का स्कॉटलैंड भी कहा जाता है. इस राज्य का इतिहास तीन जनजातियों खासी, जैन्तिया और गारो से जुड़ा हुआ है. राज्य की स्थापना के पहले से ये जनजातियां यहां निवास करती रही हैं.

17) मिजोरम

“मि” का मतलब है आदमी, “जो” का मतलब है पहाड़ और “राम” का मतलब है क्षेत्र (प्रदेश). पहाड़ी इलाकों में रहने वाले लोगों के कारण इस क्षेत्र का नाम मिजोरम पड़ा. आइजोल मिज़ोरम की राजधानी है. मिजोरम राज्य का इतिहास 16 वीं शताब्दी में उभरा यह प्रतीत होता है. पूर्वोत्तर पुनर्गठन अधिनियम के तहत 21 जनवरी, 1972 में, मिजोरम को केंद्र शासित प्रदेश बनाया गया. बाद मे भारत सरकार और मिज़ो नेशनल फ़्रंट के बीच 1986 में एक ऐतिहासिक समझौते के तहत इसे 20 फ़रवरी, 1987 मे पूर्ण राज्य का दर्जा दिया गया.

मिजोरम उत्तर-पूर्वी भारत में 21,087 वर्ग किमी मे फैला हुवा राज्य है और इस राज्य की जनसंख्या 2011 की जनगणना के अनुसार 1,091,014 थी. मिजोरम में अधिकांश समाज आदिवासी है और उनकी दो मुख्य बोलियाँ मिज़ो और अंग्रेजी हैं

पर्यटकों को लुभाने वाला और मन को आनंदित करने वाला आइजोल, बारा बाजार, मिजोरम राज्य संग्रहालय, रीक टूरिस्ट रिजॉर्ट, मुरलेन नेशनल पार्क, थेनजौल जैसी अनेकों जनहे यह स्तिथ है.

18) नागालैंड

नागालैंड भारत के उत्तर-पूर्वी स्थान में बसा हुव एक राज्य है. यह राज्य भारत के सबसे छोटे राज्यों में से एक है. कोहिमा नागालैंड की राजधानी है. पूर्व मे इसे नागा हिल्स ट्वेनसांग के नाम से भी जाना जाता था. 1 दिसंबर, 1963 में नागालैंड एक राज्य के रूप में अस्तित्व में आया. वर्ष 1964 में चुनाव, और जब राज्य सरकार ने इस राज्य का कार्यभार संभाला, तो नागालैंड राज्य सरकार ने इस राज्य को ठीक से स्थापित करना शुरू कर दिया.

इस राज्य का क्षेत्रफल 16,579 वर्ग किमी है और 2011 में हुई भारतीय जनगणना के मुताबिक, नागालैंड राज्य की जनसंख्या 1,980,602 थी.

नागालैंड पर्यटन की दृष्टि से बेहद खूबसूरत राज्य है. खोनोमा गांव, जुहू घाटी, हेरिटेज विलेज के नाम से मशहूर किसामा गांव यहां के पर्यटन के खास आकर्षण हैं.

19) ओडिशा

इस राज्य की स्थापना 1 अप्रैल 1936 को हुई थी. भुवनेश्वर ओडिशा राज्य की राजधानी है और कटक, संबलपुर, बालासोर, भद्रक जैसे कुछ प्रमुख शहर यहां स्थित हैं.

यह राज्य 1,55,707 वर्ग. किमी. क्षेत्रफल में फैला हुआ राज्य है और 2011 में हुई जनगणना के अनुसार, ओडिशा राज्य की जनसंख्या 4,19,47,358 थी. ओड़िया इस राज्य मे बोली जाने वाली प्रमुख भाषा है और इसकी तीन बोलिया संबलपुरी (पश्चिमी उड़िया), देसिया (दक्षिणी उड़िया) और कटकी (तटीय उड़िया) है.

कुछ ऐतिहासिक स्थान जैसे कि जगन्नाथपुरी, भुवनेश्वर, चिल्का झील, कोणार्क पर्यटकों के लिए विशेष आकर्षण बन गए हैं.

20) पंजाब

पंजाब राज्य पाकिस्तान की सीमा पर स्थित है. इस राज्य की स्थापना भारत और पाकिस्तान के विभाजन के बाद 1 नवंबर 1966 को हुई थी. चंडीगढ़ एक केंद्र शासित प्रदेश है और यह पंजाब राज्य की राजधानी भी है इसके अलावा चंडीगढ़ हरियाणा राज्य की भी राजधानी है. अमृतसर, लुधियाना, जालंधर, पटियाला, बठिंडा जैसे प्रमुख शहर पंजाब में स्तिथ हैं.

पंजाब राज्य में हड़प्पा सभ्यता के कई साक्ष्य मिले हैं. मध्य युग के दौरान, पंजाब पर मुस्लिम साम्राज्य का शासन हुव करता था. सिख पंथ के पहले गुरु गुरु नानक ने सिख पंथ की स्थापना की और वहां के लोगों को भक्ति का मार्ग दिखाकर आध्यात्मिकता का बीजारोपण किया, फिर सिख पंथ के दसवें गुरु गुरु गोबिंद सिंह ने खालसा पंथ की स्थापना की और भूमि को स्वतंत्र करने का कार्य शुरू किया पंजाब को गुलामी से मुक्ति दिलाई और स्वतंत्र पंजाब राज्य की स्थापना की.

इस राज्य का कुल क्षेत्रफल 50,362 वर्ग किमी है और 2011 की भारतीय जनगणना के अनुसार, पंजाब राज्य की जनसंख्या 2,77,43,338 थी. पंजाबी यहां के लोगों की मुख्य बोली है.

यहा के भाखड़ा बांध, छतबीर चिड़ियाघर, मुगल और अफगानी साम्राज्यों के मकबरे, जालंधर में सोडाल मंदिर, कई दर्शनीय स्थल, किले, ऐतिहासिक शहरों जैसे पर्यटनों के स्थल पर्यटकों द्वारा देखे जाते है.

21) राजस्थान

राजस्थान राज्य का इतिहास बहुत गौरवशाली है. यह राज्य बनने से पहले यहां अलग-अलग रियासतें हुवा करती थीं. चूंकि यहां ज्यादातर राजपूत लोग रहते थे, इसलिए इस राज्य का नाम राजपूतों के नाम पर रखा गया और अंततः यह राजस्थान बन गया

इस राज्य की स्थापना 30 मार्च 1949 को हुई थी. जयपुर राजस्थान की राजधानी है और विश्व में यह गुलाबी शहर के नाम से भी प्रसिद्ध है. यहां स्थित किले, हवेलियां, रजवाड़े देखने के लिए पर्यटक बड़ी संख्या में आते हैं.

342,239 वर्ग किमी क्षेत्रफल के साथ, राजस्थान को भारत का सबसे बड़ा राज्य घोषित किया गया है और 2011 की भारतीय जनगणना के अनुसार, राजस्थान की जनसंख्या 68,548,437 थी.

22) सिक्किम

सिक्किम राज्य हिमालय की पर्वत श्रृंखला में भारत के उत्तर-पूर्वी भाग में स्थित है. गंगटोक इसकी राजधानी है और सबसे बड़ा शहर भी है. यहां के लोग अधिकांशतः नेपाली हैं. सिक्किम की स्थापना 16 मई 1975 में हुई थी और यह भारत के सबसे छोटे राज्यों में शामिल है. इस क्षेत्र पर विभिन्न राजवंशों ने अपना शासन किया. यहां से कई स्वतंत्रता संग्राम सेनानी ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में भाग लिया.

सिक्किम राज्य का क्षेत्रफल 7096 वर्ग किमी है. 2011 की जनगणना के अनुसार, सिक्किम की जनसंख्या 5,40,493 थी.

सिक्किम राज्य सरोवर मठ झील के अलावा कई ऐतिहासिक स्थानों के लिए प्रसिद्ध है. यहां अंग्रेजी से लेकर नेपाली, सिक्किमी, लेप्चा, गुरुंग, लिम्बु, मगर, मुखिया, नेवारी, राय, शेरपा और तमांग भाषाएँ व्यापक रूप से बोली जाती हैं.

23) तमिळनाडू

तमिलनाडु भारतीय प्रायद्वीप के दक्षिणपूर्वी भाग में स्थित एक राज्य है. चेन्नई तमिलनाडु राज्य की राजधानी है और यह शहर राज्य के सबसे बड़े शहर के रूप में जाना जाता है. तमिलनाडु के इतिहास और संस्कृति के पुरापाषाण युग के कई साक्ष्य मौजूद हैं. यह राज्य पूरे विश्व में मशहूर है. यह राज्य 26 जनवरी, 1950 को स्थापित किया गया.

यह राज्य 1,30,069 वर्ग किमी क्षेत्र में फैला हुआ है. 2011 की भारतीय जनगणना के अनुसार, इस राज्य की जनसंख्या 7,21,38,958 थी. यहां के पुरातन मंदिरों और वास्तुकला जैसे विशेष स्थल पर्यटकों को आकर्षित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. तमिल इस राज्य की मुख्य बोली है.

24) तेलंगणा

तेलंगाना भारत का एक नव निर्मित राज्य है जिसका गठन 2 जून 2014 को हुआ था. हैदराबाद तेलंगाना राज्य की राजधानी है और यह शहर मुसी नदी के तट पर स्थित है. तेलंगाना पर निज़ाम का शासन था. 1953 में पोट्टी श्रीरामुलु ने तेलुगु भाषी लोगों के लिए अनशन किया था. उसके बाद, तेलंगाना राष्ट्रीय समिति ने इस मुद्दे को और अधिक जटिल बनाने के लिए कई वर्षों तक संघर्ष किया. अंततः, 20 फरवरी 2014 को कानून पारित हुआ और नए राज्य तेलंगाना की स्थापना हुई.

तेलंगाना का इतिहास 6ठी शताब्दी का है. पहले यहां हिंदू धर्म और बौद्ध धर्म का बोलबाला था. निज़ाम काल के दौरान यहां मुस्लिम धर्म अधिक प्रभावी हो गया. उसके बाद 17वीं शताब्दी के पूर्वार्ध में ईसाई धर्म का प्रसार बढ़ा और शैक्षणिक संस्थानों और चर्चों की संख्या बहुत बढ़ गई.

राज्य का क्षेत्रफल 1,14,840 वर्ग किमी है. 2020 की जनगणना के अनुसार, इस राज्य की जनसंख्या 38,510,982 थी.

चारमीनार, गोलकुंडा किला, सालारजंग संग्रहालय, रामोजी फिल्म सिटी, नेहरू जूलॉजिकल पार्क, बिड़ला मंदिर, मक्का मस्जिद, लुंबिनी पार्क, हुसैनसागर तवाफ इन्हें प्रमुख पर्यटक आकर्षण के रूप में जाना जाता है.

25) त्रिपुरा

त्रिपुरा राज्य भारत के सबसे छोटे राज्यों की सूची में शामिल है. यह बड़ी संख्या में हिंदू आदिवासी लोगों का घर है. आजादी के बाद, त्रिपुरा राज्य का 1949 में भारत में विलय हो गया और 21 जनवरी 1972 को इसका गठन किया गया. त्रिपुरा राज्य का इतिहास महाभारत और कई पुराणों में मिलता है.

यह राज्य 10,496 वर्ग किमी के क्षेत्र को कवर करता है. 2011 की भारतीय जनगणना के अनुसार इस राज्य की जनसंख्या 3,671,032 थी. कोकबरोक और बंगाली त्रिपुरा राज्य की प्रमुख बोलियाँ हैं.

त्रिपुरा राज्य में पर्यटकों के लिए कई खूबसूरत पर्यटन स्थल हैं. दुनिया भर से पर्यटक यहां उजवंत पैलेस, कुंज भवन, जगन्नाथ मंदिर, त्रिपुरा राज्य संग्रहालय जैसे कई पर्यटन स्थल देखने आते हैं. इसके अलावा, ब्रह्मकुंड, कमला सागर झील, त्रिपुर सुंदरी मंदिर भी उपलब्ध हैं.

26) उत्तराखंड

उत्तराखंड, एक राज्य जो भारत के उत्तरी कोने में समाया है. इस राज्य को पूरी दुनिया में देवभूमि के नाम से जाना जाता है. 9 नवंबर 2000 को, इस राज्य ने अपने अद्वितीय संस्थापना की उत्सवी यात्रा आरम्भ की. देहरादून शहर इस राज्य की राजधानी है.

उत्तराखंड में कई प्राचीन मंदिर हैं जिनका इतिहास से सीधा संबंध है. उत्तराखंड का इतिहास कई ग्रंथों में देखा जा सकता है. इस बात के प्रमाण हैं कि रामायण और महाभारत जैसे ग्रंथ उत्तराखंड में लिखे गए थे.

यह राज्य 53,483 वर्ग किमी क्षेत्र में फैला है और 2011 में हुई जनगणना के अनुसार, इस राज्य की जनसंख्या 1,01,16,752 थी.

इस राज्य में कई प्रसिद्ध हिंदू और सिख मंदिर हैं. वनसूर किला, पांडव गुफाएँ भी इस राज्य के महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों में शामिल हैं. यहां से निकलने वाली अलकनंदा और भागीरथी नदियों का हिंदू संस्कृति में प्रमुख स्थान है.

27) उत्तर प्रदेश

भारत के उत्तरी क्षेत्र में स्थित उत्तर प्रदेश एक ऐतिहासिक और धरोहर से भरपूर राज्य है. इस राज्य मे स्तिथ लखनऊ शहर इस राज्य की राजधानी है, जो 24 जनवरी, 1950 को गठित हुआ. उत्तर प्रदेश में प्राचीन सभ्यताओं की धरोहर है, और इसमें भगवान कृष्ण और भगवान राम के जन्मस्थल अयोध्या और मथुरा जैसे पवित्र नगर शामिल हैं.

2011 की भारतीय जनगणना के अनुसार, उत्तर प्रदेश की जनसंख्या 19,95,81,477 थी, जिससे यह देश का सबसे अधिक जनसंख्या वाला राज्य है. 2,40,928 वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल के साथ, यहाँ उत्तर प्रदेश भारत का चौथा सबसे विशाल राज्य है. यहाँ पर अधिकांश लोग हिंदी भाषी हैं, जो इस राज्य की सांस्कृतिक धारा को और भी समृद्ध बनाते हैं.

28) पश्चिम बंगाल

पश्चिम बंगाल राज्य, भारत के पूर्वी भाग में स्थित है. यह राज्य भारतीय स्वतंत्रता के बाद, 26 जनवरी 1950 को गठित हुआ था. इसकी राजधानी कोलकाता है, जिसे पहले ‘गंगारिदाई’ के नाम से जाना जाता था. यहाँ का ऐतिहासिक पारंपरिकता संपन्न है, और बंगाल के कई शाही राजवंशों ने इसे शासन किया.

राज्य का क्षेत्रफल 87,854 वर्ग किमी है. 2011 की भारतीय जनगणना के अनुसार, इसकी जनसंख्या 91,347,736 थी, जिससे यह भारत का चौथा सबसे अधिक आबादी वाला राज्य है. बंगाली भाषा यहाँ की मुख्य भाषा है.

इस राज्य में पर्यटन स्थल जैसे दार्जिलिंग, सुंदरबन आकर्षकता का केंद्र हैं. कोलकाता शहर ने अपनी सांस्कृतिक विरासत को संरक्षित किया है और ‘खुशियों का शहर’ के रूप में विश्व में एक प्रमुख भूमिका निभाई है.

भारतीय संघ राज्य क्षेत्र: उनकी राजधानिया और स्थापना की तारीखें

संघ राज्य क्षेत्रराजधानीस्थापना
अंडमान व नोकोबार द्वीप समूहपोर्ट ब्लेयर1 नवंबर 1956
चंडीगढ़चंडीगढ़1 नवंबर 1966
दादरा और नगर हवेलीदमन26 जनवरी 2020
दिल्लीनई दिल्ली1956
जम्मू और कश्मीरश्रीनगर और जम्मू31 अक्टूबर 2019
लक्षद्वीपकावारत्ती1 नवंबर 1956
पुदुचेरीपांडिचेरी1 नवंबर 1954
लद्दाखलेह31 अक्टूबर 2019

1) अंडमान और नोकोबार द्वीप समूह

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह भारत के केंद्र शासित प्रदेशों में शामिल हैं. इनमें दो समूह हैं. केंद्र शासित प्रदेश का गठन 1 नवंबर, 1956 को उत्तर में अंडमान द्वीप समूह और दक्षिण में निकोबार द्वीप समूह द्वारा किया गया था. पोर्ट ब्लेयर इस क्षेत्र की राजधानी है और अंडमान और निकोबार का सबसे बड़ा शहर भी है. 17वीं शताब्दी में इस पर मराठा साम्राज्य का शासन था. फिर अठारहवीं शताब्दी में इस द्वीप पर डेन्मार्क और ब्रिटिशों का शासन था.

2011 में हुई जनगणना के अनुसार यह 8,249 किमी वर्ग में था.

अंडमान और निकोबार क्षेत्र वंडूर, चिडियापाटू, नॉर्थ बे, लिटिल अंडमान, शाहीद द्वीप, चिंक द्वीप, करनीकोवा और स्कोव बीच जैसे समुद्र तटों के साथ एक पर्यटन स्थल के रूप में हर किसी का पसंदीदा बन गया है. और यहां गांधी पार्क, माउंट हैरियट, सेल्यूलर जेल जैसी देखने लायक जगहें हैं.

2) चंडीगढ़

चंडीगढ़ भारत का एक केंद्र शासित प्रदेश है. यह क्षेत्र भारत का सबसे समृद्ध क्षेत्र माना जाता है. इस शहर को समृद्धि का शहर भी कहा जाता है. चंडीगढ़ शहर तीन राज्यों चंडीगढ़, हरियाणा, और पंजाब की राजधानी है. यह क्षेत्र 1 नवंबर, 1966 को बनाया गया था. चंडीगढ़ एक योजनाबद्ध शहर है, इसलिए इसका इतिहास बहुत लंबा नहीं है. यह शहर दो राज्यों, पंजाब और हरियाणा, की राजधानी के रूप में बनाया गया था.

चंडीगढ़ का कुल क्षेत्रफल 114 किमी वर्ग है और 2011 की जनगणना के अनुसार, इसकी जनसंख्या 1,055,450 थी. अंग्रेजी को इस राज्य की मूल भाषा माना जाता है.

चंडीगढ़ में कई पर्यटन स्थल हैं जो पर्यटकों को आकर्षित करते हैं. इस जगह पर कई पार्क और झीलें हैं. चंडीगढ़ प्रसिद्ध सुखना झील, रॉक गार्डन, और ओपन हैंड स्मारक के साथ-साथ प्राकृतिक सुंदरता के लिए भी प्रसिद्ध है.

3) दादरा और नगर हवेली

दादरा और नगर हवेली भारत के 8 केंद्र शासित प्रदेशों में से एक है. इसकी सीमा उत्तर में गुजरात और अन्य तीन तरफ महाराष्ट्र से लगती है. दमन इस क्षेत्र का प्रमुख शहर है और दादरा और नगर हवेली की राजधानी भी है. दादरा और नगर हवेली पर पहले कोलियों का शासन था, फिर इस क्षेत्र पर राजपूतों ने कब्ज़ा कर लिया, कुछ समय बाद राजपूतों और मराठों के बीच युद्ध हुआ और यह क्षेत्र मराठा शासन के अधीन आ गया. 2 अगस्त 1954 से यहाँ पुर्तगालियों ने शासन किया जब तक दादरा और नगर हवेली प्रांत स्वतंत्र नहीं हो गया. फिर 26 जनवरी 2020 को इस राज्य को केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा मिला.

यह राज्य 491 वर्ग किमी जैसे बोहोत ही छोटे क्षेत्र में स्थित है. 2011 की जनगणना के अनुसार इस क्षेत्र की जनसंख्या 3,42,853 है. गुजराती और मराठी यहाँ के अधिकांश लोगों की दो बोलियाँ हैं.

पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए यहां जंगल, पर्यटक-अनुकूल वातावरण, रिसॉर्ट, होटल और विभिन्न त्योहार भी आयोजित किए जाते हैं.

4) दिल्ली

दिल्ली उत्तरी भारत का एक राज्य है. यह राज्य एक केंद्र शासित प्रदेश है और यह भारत की राजधानी है. दिल्ली भारत का प्रमुख ऐतिहासिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक केंद्र है. दुनिया में सबसे अधिक आबादी वाला शहर है. ब्रिटिश सरकार ने 1911 में अपनी राजधानी को कलकत्ता से दिल्ली में स्थानांतरित किया. तभी दिल्ली शहर की स्थापना हुई. भारत की स्वतंत्रता के बाद, दिल्ली को राजधानी का दर्जा दिया गया. 1956 में, दिल्ली को केंद्र शासित प्रदेश में शामिल किया गया और 1992 में कानून पारित करके दिल्ली को राष्ट्रीय राजधानी का दर्जा मिला. ऐसे कई संदर्भ हैं कि इंद्रप्रस्थ दिल्ली में पांडवों की राजधानी थी.

इस राज्य का क्षेत्रफल 1,483 वर्ग किलोमीटर है और 2011 की जनगणना के अनुसार, इस राज्य की जनसंख्या 1,67,53,235 है. दिल्ली में बोली जाने वाली भाषाएँ हिंदी, उर्दू, पंजाबी, और अंग्रेजी हैं.

यहां जामा मस्जिद, शौचालय संग्रहालय, लक्ष्मीनारायण मंदिर, कमल मंदिर, कुतुब मीनार जैसे कई पर्यटक आकर्षण हैं, जो भारत में सबसे बड़े हैं.

5) जम्मू कश्मीर

जम्मू और कश्मीर को भारत में एक अनूठा प्राकृतिक स्वर्ग माना जाता है. 2019 तक जम्मू और कश्मीर को भारत का एक राज्य मान्यता दी गई थी. अनुच्छेद 370 और 35 ए को निरस्त करने के बाद, केंद्र सरकार ने 31 अक्टूबर को जम्मू और कश्मीर को केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा दिया. इसके साथ ही लद्दाख को भी केंद्र शासित प्रदेशों की सूची में शामिल किया गया. 26 अक्टूबर 1947 को जम्मू और कश्मीर राज्य का गठन किया गया.

जम्मू और कश्मीर की विशेषता यह है कि यहाँ दो अलग-अलग राजधानियाँ हैं, जम्मू और श्रीनगर. सर्दियों में जम्मू और गर्मियों में श्रीनगर राजधानी है. जम्मू और कश्मीर का इतिहास प्राचीन काल से मिलता है. हिंदू धर्मग्रंथों में देवी-देवताओं के इतिहास पर नजर डालने पर हमें जम्मू-कश्मीर से संबंधित कई संदर्भ मिलते हैं.

डोगरा राजा मालदेव ने जम्मू-कश्मीर के क्षेत्र पर कब्जा कर लिया और फिर 1733 से 1782 तक राजा रणजीत देव ने 50 से अधिक वर्षों तक इस क्षेत्र पर शासन किया. उन्होंने इस क्षेत्र को वर्तमान पंजाब प्रांत में मिला लिया और बाद में यह राज्य राजा गुलाब सिंह को दे दिया गया.

जम्मू और कश्मीर का क्षेत्रफल 2,22,236 वर्ग किमी है. यहाँ की जनसंख्या 2011 में 1,25,48,926 थी.

जम्मू और कश्मीर पृथ्वी पर स्वर्ग के समान है, जहाँ कई पर्यटकों को आकर्षित करने वाले स्थल हैं. इनमें शालीमार, चश्माशाही, निशात, नसीम, ​​गुलमर्ग, खिलनमर्ग, सोनमर्ग, मनमोहक इलाके, पहलगाम, अमरनाथ, लिद्दर दरी, हरमुख, नंगापर्वत, वुलर, डल, मानसबल, गंगाबल, शेषनाग, कौंसरनाग, नीलनाग जैसे खूबसूरत पार्क शामिल हैं. अथिबल, कुकरनाग, वेरनाग, अनंतनागदी झरने पीर पंजाल, बनिहाल, ज़ोजी, बुर्जिल दर्रे जैसे मार्तंड मंदिर, वैष्णवदेवी, जम्मू-त्रिकुटा, तुलामुला, क्षीरभवानी, शंकराचार्य हिल, शारदा, दुर्गादेवी आदि प्राचीन मंदिर श्रीनगर में शाह हमदान, हजरतबल और पत्थर मस्जिद जैसे अनेक पर्यटकों के आकर्षण हैं.

6) लक्षद्वीप

यह भारत का एक केंद्र शासित प्रदेश है जो भारत के दक्षिणी भाग में स्थित है, और यह क्षेत्र 36 द्वीपों का एक समूह है. इस क्षेत्र की स्थापना 1 नवंबर 1956 को हुई थी. कावारत्ती लक्षद्वीप की प्रमुख राजधानी है, और ऐतिहासिक साक्ष्य बताते हैं कि यहां 5वीं या 6ठी शताब्दी ईस्वी में बौद्ध धर्म मौजूद था. उसके बाद उबैदुल्ला इस लक्षद्वीप में इस्लाम लेकर आए. उसके बाद 1498 की शुरुआत में पुर्तगाली यहां शासन करने आए. 1778 में टीपू सुल्तान ने इस द्वीप पर कब्जा कर लिया. टीपू सुल्तान और अंग्रेजों के बीच युद्ध के बाद यह क्षेत्र ब्रिटिश नियंत्रण में आ गया.

यह क्षेत्र केवल 32.62 वर्ग किमी के क्षेत्र में विभाजित है. 2011 की जनगणना के अनुसार, इस क्षेत्र की जनसंख्या 64,473 थी. अंग्रेजी और मलयालम यहां की दो आधिकारिक भाषाएं हैं.

बंगराम, कदमत, कल्पेनी, मिनिकॉय यहां के विशेष पर्यटक आकर्षण हैं.

7) पुडुचेरी

पुडुचेरी भारत के केंद्र शासित प्रदेशों में से एक अनोखा प्रदेश है. यह चार जिलों से बना क्षेत्र है. पुडुचेरी के इतिहास के कई साक्ष्य हैं. एक ऐतिहासिक साक्ष्य में पोडुके नामक बाजार का जिक्र है. अनुमान है कि इसका नाम पुडुचेरी रखा गया होगा. 1674 में पुडुचेरी और उसके आसपास एक फ्रांसीसी उपनिवेश स्थापित किया गया था. यह क्षेत्र 1 नवंबर 1954 को भारत को सौंप दिया गया था. सितंबर 2006 में पांडिचेरी का आधिकारिक नाम बदलकर पुडुचेरी कर दिया गया.

यहाँ का क्षेत्रफल 412 वर्ग किमी है, और 2011 की जनगणना के अनुसार, जनसंख्या 13,94,467 थी. यहां के चार जिलों में अलग-अलग भाषाएं बोली जाती हैं. तेलुगु, तमिल, मलयालम, अंग्रेजी और फ्रेंच यहां की बोलियां हैं.

कुछ अवश्य देखने योग्य स्थान और ऐतिहासिक स्मारक हैं पैराडाइज बीच, रॉक बीच, फ्रांसीसी युद्ध स्मारक और महात्मा गांधी प्रतिमा.

8) लद्दाख

लद्दाख भारत के केंद्र शासित प्रदेशों में से एक है. लद्दाख को कम आबादी वाले केंद्र शासित प्रदेश के रूप में जाना जाता है. लेह लद्दाख की राजधानी है और 31 अक्टूबर 2019 को लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश के रूप में मान्यता दी गई थी. लद्दाख का एक समृद्ध इतिहास है, तिब्बती, मंगोल और मुगलों सहित कई शासकों ने इस क्षेत्र पर शासन किया. उसके बाद नामग्याल राजवंश ने यहां लंबे समय तक शासन किया.

लद्दाख का क्षेत्रफल लगभग 100 वर्ग किमी है, 2011 की जनगणना के अनुसार, इस क्षेत्र की जनसंख्या 274,289 थी. यहां मुख्य रूप से हिंदी, लद्दाखी और तिब्बती तीन भाषाएं बोली जाती हैं.

लद्दाख दुनिया में पर्यटन के लिए एक लोकप्रिय स्थान है. यहां के बर्फ से ढके पहाड़, झीलें, और स्वर्ग के समान झीलें हैं.

सारांश

इस लेख में हमने देखा कि भारत में कुल कितने राज्य हैं? (Bharat Me Kitne Rajya Hai), उनका महत्व और प्रत्येक राज्य का नाम, उसका क्षेत्रफल, राज्य की राजधानी, जनसंख्या और राज्य की स्थापना कब हुई थी. उस राज्य के प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों और पुराने इतिहास के बारे में विस्तृत जानकारी ली है. आपको यह लेख कैसा लगा हमें कमेंट करके बताएं और यदि आपके पास कोई सुझाव है तो हमें एक ईमेल भेजें और हम निश्चित रूप से लेख को सही करने का प्रयास करेंगे. यदि आपको यह लेख उपयोगी लगे तो इसे अपने दोस्तों या अन्य रिश्तेदारों के साथ अवश्य साझा करें ताकि कुछ हद तक उनका ज्ञान भी बढ़े.

जरूर पढे

FAQ’s

  • भारत में 29 राज्य कौन-कौन से हैं?

    भारत में वर्तमान में 29 नहीं 28 राज्य हैं और 8 केंद्र शासित प्रदेश. आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, असम, बिहार, छत्तीसगढ़, गोवा, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, कर्नाटक, केरल, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, मणिपुर, मेघालय, मिज़ोरम, नगालैंड, ओडिशा, पंजाब, राजस्थान, सिक्किम, तमिलनाडु, तेलंगाना, त्रिपुरा, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल ये राज्यों के नाम हैं.

  • 8 केंद्र शासित प्रदेश कौन से हैं?

    भारत में 8 केंद्र शासित प्रदेश हैं, जहां राज्य सरकारों की स्थानीय प्रशासनिक अधिकार नहीं होते और वे केंद्र सरकार द्वारा प्रबंधित होते हैं. इन प्रदेशों में अंडमान व निकोबार द्वीप समूह, चंडीगढ़, दादरा और नगर हवेली, दिल्ली, जम्मू और कश्मीर, लक्षद्वीप, पुदुचेरी, और लद्दाख शामिल हैं. ये प्रदेश विशेष रूप से केंद्र सरकार के निर्देशनों के तहत विभिन्न क्षेत्रों का प्रशासन करते हैं.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Leave a Comment