यूपीएससी क्या है: चाहिए सरकारी नौकरी? तो यहाँ जानिए सबकुछ!

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

यूपीएससी क्या है? यह सवाल बहुत से लोगों के दिमाग में हो सकता है, तो चलिए हम इसके बारे में जानते हैं. जैसे की प्रशासन व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने के लिए एक उचित प्रशासक का होना आवश्यक है. सर्वश्रेष्ठ प्रशासक के चयन की प्रक्रिया संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) के माध्यम से की जाती है. भारत में संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) के माध्यम से IPS, IAS, IFS, IRS जैसी महत्वपूर्ण पदो के लिए परीक्षा की योजना बनाई जाती है.

एक अच्छे प्रशासक के चुनाव की प्रक्रिया में आयोग द्वारा विभिन्न परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं. इन परीक्षाओं की योजना बनाने का काम राज्य और केंद्र के सहयोग से संघ लोकसेवा आयोग द्वारा की जाती है. इसमें हजारों छात्र शामिल होते हैं.

लेकिन छात्र इसमें उतने सफल होते हैं जितने हाथ की उंगलियों पर गिने जा सकते हैं. यह परीक्षा कठिन जरूर है लेकिन असंभव नहीं. कड़ी मेहनत, लगन और उचित मार्गदर्शन से आप निश्चित रूप से इस परीक्षा में सफल हो सकते हैं.

यूपीएससी का फुल फॉर्म (U P S C Full Form)

UPSC (UNION PUBLIC SERVICE COMMISSION) का हिंदी में मतलब संघ लोक सेवा आयोग होता है. भारत में कई छात्र UPSC परीक्षा देकर अपनी किस्मत आजमाते हैं. कुछ छात्रों को पहले प्रयास में ही सफलता मिल जाती है, जबकि कुछ छात्र कई सालों तक प्रयास करते रहते हैं. ग्रुप ए और बी के तहत केंद्रीय स्तर पर विभिन्न उच्च सिविल सेवा पदों के लिए भर्ती पूर्व परीक्षा आयोजित की जाती है.

यूपीएससी की स्थापना कब हुई?

UPSC यानी संघ लोक सेवा आयोग परीक्षा केंद्रीय स्तर पर विभिन्न उच्च सिविल सेवा पदों के लिए एक पूर्व-भर्ती परीक्षा है. इस संगठन की स्थापना 1 अक्टूबर 1926 को हुई थी. यूपीएससी का संगठन केंद्र सरकार के अधीन है और किसी भी राज्य सरकार को इसमें हस्तक्षेप करने का अधिकार नहीं है.

यूपीएससी से क्या बनते हैं?

जब कोई छात्र UPSC परीक्षा पास कर लेता है तो उसे निम्नलिखित पदों के लिए चुना जाता है.

  • भारतीय प्रशासनिक सेवा : Indian Administrative Service (IAS)
  • भारतीय पोलिस सेवा : Indian Police Service (IPS)
  • भारतीय विदेश सेवा : Indian Foreign Service (IFS)
  • भारतीय राजस्व सेवा : Indian Revenue Service (IRS)

UPSC के लिए योग्यता

  • उम्मीदवार भारतीय मूल का नागरिक होना चाहिए.
  • यूपीएससी परीक्षा में बैठने वाले उम्मीदवार किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या मुक्त विश्वविद्यालय के किसी भी शाखा से स्नातक छात्र होना चाहिए.
  • यदि यूपीएससी परीक्षा देने वाला छात्र GENERAL वर्ग है तो उसकी न्यूनतम आयु 21 वर्ष से 32 वर्ष के बीच होनी चाहिए. OBC वर्ग के लिए यह सीमा 35 वर्ष और SC/ST के लिए 37 वर्ष तक है.

UPSC परीक्षा पैटर्न

यूपीएससी परीक्षा को तीन भागों में बांटा गया है. पहले भाग में प्रीलिम्स परीक्षा होती है, अगर प्रीलिम्स में पास हो जाते हैं तो उन अंकों के औसत के आधार पर दूसरे भाग में मुख्य परीक्षा आयोजित की जाती है और तीसरे भाग में इंटरव्यू आयोजित किया जाता है.

यूपीएससी प्रीलिम्स में कितने पेपर होते हैं?

प्रीलिम्स-परीक्षा में निम्नलिखित दो पेपर होते हैं. दोनों पेपरों में बहुविकल्पीय प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं.

विषयप्रश्नसमयअंक
सामान्य ज्ञान1002 घंटे200 (प्रति प्रश्न 2 अंक)
सीएसएटी सिविल सेवा एप्टीट्यूड टेस्ट802 घंटे200 (प्रति प्रश्न 2.5 अंक)

यूपीएससी MAINS में कितने पेपर होते हैं?

प्रारंभिक परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर यह तय किया जाता है कि कोई छात्र मुख्य परीक्षा में शामिल होने के योग्य है या नहीं. मुख्य परीक्षा में कुल 9 पेपर होते हैं जिन्हे दो भागोमे बाटा गया हे , यूपीएससी क्वालिफाइंग पेपर और यूपीएससी मेंस मेरिट पेपर जिनमें से दो क्वालिफाइंग पेपर के लिए 300 अंकों के होते हैं और बाकी 7 मेंस मेरिट पेपर 1750 अंकों के होते हे जिसमे हर एक पेपर 250 अंकों का होता है.

क्वालिफाइंग पेपर
पेपरविषयअंक
पेपर Aअनिवार्य भारतीय भाषा300
पेपर Bअंग्रेजी300
कुल अंक600
यूपीएससी मेंस मेरिट पेपर
पेपरविषयअंक
पेपर 3निबंध250
पेपर 4सामान्य अध्ययन-1 (भारतीय विरासत और संस्कृति, विश्व और समाज का इतिहास और भूगोल)250
पेपर 5सामान्य अध्ययन-2 (शासन, संविधान, राजनीति, सामाजिक न्याय और अंतर्राष्ट्रीय संबंध)250
पेपर 6सामान्य अध्ययन-3 (प्रौद्योगिकी, आर्थिक विकास, जैव-विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा और आपदा प्रबंधन)250
पेपर 7सामान्य अध्ययन-4 (नैतिकता, सत्यनिष्ठा और योग्यता)250
पेपर 8वैकल्पिक विषय पेपर-1250
पेपर 9वैकल्पिक विषय पेपर-2250
कुल अंक1750

मुलाखत परीक्षा (UPSC INTERVIEW)

यूपीएससी परीक्षा में छात्र के लिए मुलाखत परीक्षा सबसे महत्वपूर्ण मानी जाती है. मुख्य परीक्षा में सफल होने वाले छात्रों की मुलाखत ली जाती है. यूपीएससी परीक्षा में मुलाखत परीक्षा के लिए कुल 250 अंक होते हैं. मुलाखत प्रक्रिया में सफल होने वाले छात्रों को यूपीएससी द्वारा भरे गए पदों पर नियुक्ति कि जाती है.

सारांश

इस लेख में हमने यूपीएससी क्या है और यूपीएससी परीक्षा के बारे में यथासंभव अधिक जानकारी प्रदान करने का प्रयास किया है. यदि आपको लेख पसंद आया या आपका कोई प्रश्न हो, तो कृपया हमें टिप्पणियों के माध्यम से बताएं और हम यथासंभव सर्वोत्तम उत्तर देने का प्रयास करेंगे. साथ ही अगर जानकारी सही लगे तो कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें.

ये भी पढे

FAQ’s

  • यूपीएससी के लिए परीक्षा शुल्क कितना है?

    यूपीएससी प्रारंभिक परीक्षा के लिए 100 रुपये और मुख्य परीक्षा के लिए 200 रुपये शुल्क लेता है.

  • इंटरव्यू कितने नंबर का होता है?

    यूपीएससी साक्षात्कार कुल 275 अंकों का होता है. मुख्य परीक्षा और मुलाखत परीक्षा के अंकों को मिलाकर रिक्तियों की संख्या के अनुसार मेरिट सूची जारी की जाती है.

  • सबसे कठिन इंटरव्यू कौन सा है

    यूपीएससी मुलाखत परीक्षा को सबसे कठिन माना जाता है क्योंकि इसमें प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा शामिल होती है.

  • यूपीएससी का पेपर कहाँ होता है?

    यूपीएससी की परीक्षा नई दिल्ली में आयोजित की जाती है, जो की यूपीएससी का मुख्य केंद्र है. मुख्य परीक्षा के परिणाम के बाद आमतौर पर 15 दिनों के बाद मुलाखत परीक्षा प्रक्रिया शुरू की जाती है.

  • आईएएस का इंटरव्यू कितने घंटे का होता है?

    यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा के लिए सबसे महत्वपूर्ण चरण उम्मीदवारों की मुलाखत. इस इंटरव्यू के लिए 275 अंक होते हैं और आमतौर पर इंटरव्यू आधे घंटे तक चलता है. जिन उम्मीदवारों ने प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा उत्तीर्ण कर ली है, वे अंतिम मुलाखत के लिए Qualify हो जाते है.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Leave a Comment

Open Book Exam बच्चों के लिए वरदान या मुसीबत? जानने के लिए क्लिक करें! बेटियों के लिए शिक्षा लोन: बैंकों की खास सेवाएं, इतने फायदे कि हैरान रह जाएंगे! UPSC CSE Prelims Exam 2024: शुरू हुए आवेदन, जल्दी करें! अब बनें टीचर: नए नियमों में क्या है खास? स्टूडेंट्स के लिए बड़ी खबर: डिजिटल आईडी अब जरूरी, जानिए क्यों!